नस्लीय पूर्वाग्रह को खत्म न कर पाने को लेकर ओबामा ने जताया अफसोस

भाषा भाषा
विदेश Updated On :

वाशिंगटन। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा का कहना है कि आपराधिक न्याय प्रणाली में नस्लीय पूर्वाग्रह को खत्म करने में उनकी सरकार की अक्षमता के कारण कुछ अमेरिकियों को इसको लेकर संदेह हो सकता है कि “सरकार के हाथ में क्या है”? ओबामा से बुधवार रात जारी “पॉड सेव अमेरिका” के एक एपिसोड में पूछा गया कि वह उन लोगों, विशेषकर युवाओं और अल्पसंख्यकों से क्या कहेंगे जिन्होंने अगले महीने होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव में वोट देने के संबंध में अभी फैसला नहीं किया है।

इस पर ओबामा ने जवाब दिया, “उनमें से कुछ को नस्लीय पूर्वाग्रह को खत्म करने के लिए आपराधिक न्याय प्रणाली को पूरी तरह से बदलने में मेरी विफलता को लेकर निराशा हो सकती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसका कारण यह है कि 90 प्रतिशत आपराधिक सजाएं आम तौर पर संघीय स्तर के बजाय राज्यों के स्तर पर हो रही है।”

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन ने अपनी सरकार के पहले 100 दिनों के दौरान आपराधिक न्याय प्रणाली में संस्थागत नस्लवाद को खत्म करने का संकल्प लिया है।

ओबामा उस काम को नहीं कर सकें लेकिन उन्होंने कहा कि सरकार देश की सबसे जटिल समस्याओं में से कुछ को “रातों रात” हल नहीं कर सकती। हालांकि, ओबामा ने कहा कि मतदान न करने का कोई कारण नहीं है, मतदान जरूर करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘इस विचार से आप अपनी शक्ति से वंचित रह जाएंगे क्योंकि आप 30, 40, 50 प्रतिशत मतदान से इस लक्ष्य को 100 प्रतिशत प्राप्त नहीं कर सकते हैं, इसका कोई मतलब नहीं है।’’

 



Related