के-12 एशियाई अमेरिकी अध्ययन के पक्ष में हैं सांसद, छात्र


कनेक्टिकट हाई स्कूल के एशियाई अमेरिकी छात्र संघ ने एटलांटा में छह एशियाई महिलाओं की हत्या के मुद्दे पर चर्चा के लिए जब ‘जूम कॉल’ की योजना बनायी तो वरिष्ठ छात्रा लिली फेंग को लगा था कि कुछ 10-15 सहपाठी इसमें हिस्सा लेंगे।


भाषा भाषा
विदेश Updated On :

शारलट (अमेरिका)। कनेक्टिकट हाई स्कूल के एशियाई अमेरिकी छात्र संघ ने एटलांटा में छह एशियाई महिलाओं की हत्या के मुद्दे पर चर्चा के लिए जब ‘जूम कॉल’ की योजना बनायी तो वरिष्ठ छात्रा लिली फेंग को लगा था कि कुछ 10-15 सहपाठी इसमें हिस्सा लेंगे। लेकिन जब फेंग ने लॉगइन किया तो वहां स्कूल के 50 से ज्यादा लोग ऑनलाइन थे और चर्चा खत्म होते-होते 100 के करीब लोगों ने उसमें भाग लिया।

चर्चा में लोगों को दिलचस्पी देखकर इन छात्रों को महसूस हुआ कि बड़ी संख्या में लोग एशियाई-अमेरिकी पहचान के विषय पर जानकारी चाहते हैं, जबकि स्कूलों के पाठ्यक्रम में यह विषय शामिल नहीं है।

एशियाई अमेरिकी इतिहास के बारे में चर्चा का आयोजन करने वाले छात्र समूह की सह-अध्यक्ष फेंग ने कहा, ‘‘हमारे एशियाई अमेरिकी और प्रशांत द्वीप समूह समुदाय के सदस्य चाहते हैं कि उनकी बात सुनी जाए।’’

उसने कहा, ‘‘वे इसके बारे में बात करने के लिए बेचैन हैं।’’ एक ओर जहां छात्र पाठ्यक्रम को और समावेशी बनाने के पक्ष में हैं, वहीं कुछ सांसद, शिक्षाविद और छात्र के-12 शिक्षा में एशियाई अमेरिकी इतिहास को शामिल करके भ्रांतियों को दूर करना चाहते हैं।

इस सिलसिले में अगर इलिनोइस के गवर्नर ने विधेयक पर हस्ताक्षर कर दिया तो, प्रांत सरकारी स्कूलों में एशियाई अमेरिकी शिक्षा को अनिवार्य करने वाला अमेरिका का पहला प्राप्त होगा। सांसदों ने कनेक्टिकट, न्यूयॉर्क और विस्कांसिन में भी इस साल ऐसे ही प्रस्ताव रखे हैं।



Related