भारत के नेतृत्व वाले अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन ने सीओपी26 में संयु्क्त राष्ट्र समझौते पर हस्ताक्षर किए

भाषा भाषा
विदेश Updated On :

लंदन। भारत के नेतृत्व वाले अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) और जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र कार्यढांचा सम्मेलन (यूएनएफसीसीसी) ने शुक्रवार को ग्लासगो में सीओपी26 जलवायु शिखर सम्मेलन में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए, जिसमें वैश्विक प्रयासों के अनुरूप महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय जलवायु कार्रवाई के कार्यान्वयन में देशों को सहयोग और समर्थन करने के लिए सहमति बनी।

आईएसए के महानिदेशक डॉ. अजय माथुर और यूएनएफसीसीसी के उप कार्यकारी सचिव ओवैस सरमद द्वारा समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया। समझौता ज्ञापन संयुक्त रूप से ऊर्जा क्षेत्र में शमन कार्रवाई के कार्यान्वयन की सुविधा के लिए गतिविधियों का एक समूह आयोजित करने के लिए काम करेगा, राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (एनडीसी) और दीर्घकालिक कम उत्सर्जन विकास रणनीतियों के कार्यान्वयन की सुविधा प्रदान करेगा।

यह समझौता छोटे द्वीपीय राष्ट्रों (एसआईडी) और कम विकसित देशों (एलडीसी) सहित विकासशील देश के हितधारकों को डीकार्बोनाइजेशन प्रौद्योगिकियों के लिए नीति विकल्पों और दृष्टिकोणों को अपनाने में तेजी लाने के लिए सहयोग देगा।

डॉ. माथुर ने कहा, “जलवायु परिवर्तन के खिलाफ कार्रवाई करने और लक्षित तारीख से पहले उत्सर्जन में कमी से संबंधित राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान को प्राप्त करने के लिए सौर और स्वच्छ ऊर्जा को अपनाकर संभव बनाया जा सकता है।”

उन्होंने कहा, “यूएनएफसीसीसी ने इस जलवायु चुनौती का नेतृत्व किया है, और हम दीर्घकालिक, लागत प्रभावी और प्रभावशाली समाधान लाने के लिए साझेदारी, सहयोग और प्रयास करके खुश हैं।”