बाइडन ने AANHPI सलाहकार आयोग में चार भारतीय-अमेरिकियों को नियुक्त करने की इच्छा जाहिर की


कुल मिलाकर, व्हाइट हाउस ने 23 सलाहकार सदस्यों की घोषणा की।


भाषा भाषा
विदेश Updated On :

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार को चार भारतीय अमेरिकियों अजय जैन भुटोरिया, सोनल शाह, कमल कलसी और स्मिता शाह को एशियाई अमेरिकियों, मूलनिवासी हवाई और प्रशांत द्वीप वासियों पर अपने सलाहकार आयोग के सदस्यों के रूप में नियुक्त करने की इच्छा जाहिर की।

व्हाइट हाउस ने कहा कि आयोग, राष्ट्रपति को बताएगा कि सार्वजनिक, निजी और गैर-लाभकारी क्षेत्र प्रत्येक एशियाई अमेरिकी, मूल निवासी हवाई और प्रशांत द्वीप समूह (एएमएनएचपीआई) समुदाय के लिए समानता लाने और अवसर उत्पन्न करने के लिए मिलकर किस तरीके से काम कर सकते हैं।

प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया कि इसे राष्ट्रपति को एशियाई-विरोधी ‘जेनोफोबिया’ (विदेशी लोगों को पसंद न करना) और हिंसा से निपटने के लिए नीतियों पर सलाह देने, संघीय अनुदान के माध्यम से एएएनएचपीआई समुदायों में क्षमता निर्माण के तरीके और एएएनएचपीआई महिलाओं, एलजीबीटीक्यू+ लोगों और दिव्यांग लोगों के सामने आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए नीतियों पर सलाह देने का भी जिम्मा सौंपा गया है।

कुल मिलाकर, व्हाइट हाउस ने 23 सलाहकार सदस्यों की घोषणा की। व्हाइट हाउस ने कहा कि भुटोरिया एक सिलिकॉन वैली प्रौद्योगिकी कार्यकारी, सामुदायिक नेता, वक्ता और लेखक हैं, जिन्हें उनके काम के लिए पहचाना जाता है।

सेना में करीब 20 वर्षों तक सेवा देने वाले जर्सी के चिकित्सक डॉ. कलसी को अफगानिस्तान में अग्रिम पंक्ति में सैकड़ों युद्ध हताहतों की देखभाल करने के उनके काम के लिए कांस्य स्टार पदक से सम्मानित किया गया था।

सोनल शाह एक सामाजिक नवप्रवर्तक नेता हैं, जिन्होंने 25 से अधिक वर्षों से अकादमिक, सरकार और निजी और परोपकारी क्षेत्रों में सामाजिक प्रभाव वाले प्रयासों का आरंभ और नेतृत्व किया है।

वहीं, स्मिता एन शाह एक इंजीनियर, उद्यमी और नागरिक नेता हैं, जो शिकागो स्थित ‘स्पैन टेक’, की अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में सेवारत हैं। यह एक बहु-विषयक कंपनी है।