कोरोना के चलते रद्द हुआ एशियाई शांति पुरस्कार


कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के चलते फिलीपीन का शांति पुरस्कार इस बार रद्द कर दिया गया है। यह तीसरी बार है जब एशिया का नोबेल पुरस्कार कहे जाने वाले इस वार्षिक सम्मान को पिछले छह दशकों में रद्द किया गया हो।


भाषा भाषा
विदेश Updated On :

बैंकॉक। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के चलते फिलीपीन का शांति पुरस्कार इस बार रद्द कर दिया गया है। यह तीसरी बार है जब एशिया का नोबेल पुरस्कार कहे जाने वाले इस वार्षिक सम्मान को पिछले छह दशकों में रद्द किया गया हो।

रेमन मैगसायसाय पुरस्कार देने वाले मनीला स्थित फाउंडेशन ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 ने पूरी दुनिया को सच में ठप कर दिया है और इसके कारण उसके पास कोई विकल्प नहीं बचा है। इन पुरस्कारों को 1970 में आर्थिक संकट के चलते और 1990 में विनाशकारी भूकंप की वजह से पूर्व में भी रद्द किया जा चुका है। पुरस्कार का नाम फिलीपीन के प्रसिद्ध राष्ट्रपति के नाम पर रखा गया जिनकी 1957 में विमान हादसे में मौत हो गई थी। यह पुरस्कार एशिया के लोगों की नि:स्वार्थ सेवा के लिए लोगों को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है।

यह पुरस्कार प्राप्त कर चुकीं 330 से अधिक शख्सियतों में फिलीपीन के दिवंगत राष्ट्रपति कोराजोन एक्विनो और मदर टेरेसा शामिल हैं जिन्हें भारत में उनके धर्मार्थ कार्यों के लिए जाना जाता है। दक्षिणपूर्व एशिया में फिलीपीन कोरोना वायरस से अत्यधिक प्रभावित है जहां संक्रमण के 22,400 मामले हैं और 1,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। अपनी अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए उसने लाखों लोगों को लॉकडाउन से राहत दी है।


Related