राहुल गांधी का गिरेबान पकड़ी यूपी पुलिस, राहुल-प्रियंका को गिरफ्तार कर पुलिस अनजान जगह रवाना


प्रियंका गांधी ने कहा, ” हाथरस जाने से हमें रोका। बर्बर ढंग से लाठियाँ चलाईं। कई कार्यकर्ता घायल हैं। अहंकारी सरकार की लाठियाँ हमें रोक नहीं सकतीं। काश यही लाठियाँ, यही पुलिस हाथरस की दलित बेटी की रक्षा में खड़ी होती।”


मंज़ूर अहमद मंज़ूर अहमद
उत्तर प्रदेश Updated On :
राहुल गांधी का गिरेबान पकड़ी यूपी पुलिस(एबीपी न्यूज)


नोएडा। उत्तर प्रदेश पुलिस ने हाथरस जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी को रोकने के दौरान उनका गिरेबान तक पकड़ लिया और उनकी साथ धक्का-मुक्की भी की है। पुलिस की धक्का मुक्की के दौरान राहुल गांधी जमीन पर गिर गए जिसमें उनको चोटें भी आई हैं।

राहुल गांधी के समर्थकों पर चली लाठियां कईयों को लगी गंभीर चोटें

राहुल गांधी के काफिले के साथ यूपी पुलिस ने काफी बर्बर तरिके से पेश आई जिसमें उसने साथ जा रहे लोगों पर लाठियां बरसाई जिसमें कईयों को फाफी चोटें आई हैं। कांग्रेस समर्थकों को मारने पर प्रियंका गांधी ने कहा, ” हाथरस जाने से हमें रोका। बर्बर ढंग से लाठियाँ चलाईं। कई कार्यकर्ता घायल हैं। हमें अहंकारी सरकार की लाठियाँ हमें रोक नहीं सकतीं। काश यही लाठियाँ, यही पुलिस हाथरस की दलित बेटी की रक्षा में खड़ी होती।”

समाचार चैनल एबीपी  न्यूज के अनुसार हाथरस जा रहे राहुल गांधी को रोकने के दौरान यूपी पुलिस ने राहुल गांधी को धक्का दिया जिसके बाद वह जमीन पर गिर पड़े। पुलिस की हरकत के बाद मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता और भिंड के लोकसभा प्रत्यशी देवाशीष जरारिया ने ट्वीट कर कहा है कि जब पुलिस दो देश के इतने बड़े नेता के साथ ऐसा व्यवहार कर सकती हैं तो वह आम आदमी के साथ कैसा व्यवहार करेगी।

 

वहीं पुलिस के लाठी चार्ज पर कांग्रेस के नेता पीएल पुनिया ने आरोप लगाया है कि जनता के आक्रोश से डरी हुई बीजेपी अब पुलिस का लाठियों का सहारा ले रही है। उन्होंने ट्वीट किया, ” डरी हुई भाजपा ने लिया पुलिस की लाठियों का सहारा ”

राहुल-प्रियंका को गिरफ्तार कर अनजान जगह ले गई पुलिस

यूपी पुलिस ने राहुल और प्रियंका गांधी सहित कांग्रेस के दूसरे कई नेताओं को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार करने के बाद पुलिस सभी नेताओं कहा ले जा रहे हैं इस बात का अंदाजा अभी तक किसी को नहीं है। इस संबंध में कांग्रेस के नेता और लखनऊ संसदीय सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे आचार्य प्रमोदी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।