कोरोना महामारी की लड़ाई अभी आधी लड़ी गई है, आगे चैलेंज अधिक हैः योगी


मुख्यमंत्री योगी ने अधिकारियों को आगाह किया कि जनपद में काफी संख्या में प्रवासी कामगार काफी दिनों बाद आए हैं, इसलिए राजस्व विवाद के दृष्टिगत भी सतर्क रहने की जरूरत है। पुलिस प्रशासन भी सतर्क रहें। किसी भी व्यक्ति को कानून हाथ में लेने की छूट नहीं है। गौ तस्करी सहित अन्य तस्करी एवं सांप्रदायिक घटनाओं को प्रत्येक दशा में रोका जाए।



गोंडा। प्रदेश के  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोंडा जिला का भ्रमण किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी ने पुलिस लाइन में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कोविड-19 को लेकर एक बैठक की। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान जिला प्रशासन द्वारा उत्कृष्ट कार्य किया गया है। यह महामारी सदी की पहली महामारी है। कोई महामारी लगभग चार  से छह पीढ़ी के बाद आती है।    

मुख्यमंत्री योगी ने अधिकारियों को आगाह किया कि जनपद में काफी संख्या में प्रवासी कामगार काफी दिनों बाद आए हैं, इसलिए राजस्व विवाद के दृष्टिगत भी सतर्क रहने की जरूरत है। पुलिस प्रशासन भी सतर्क रहें। किसी भी व्यक्ति को कानून हाथ में लेने की छूट नहीं है। गौ तस्करी सहित अन्य तस्करी एवं सांप्रदायिक घटनाओं को प्रत्येक दशा में रोका जाए।

सीएम ने कहा कि कोरोना महामारी की लड़ाई आधी लड़ी गई है। आगे चैलेंज अधिक है। पुलिस को इंफोर्समेंट के लिए आगे आना होगा। मॉस्क पहनने के लिए जागरूकता के साथ ही साथ इंफोर्समेंट के जरिए जुर्माना भी लगाया जाए। उन्होंने कहा कि नदियों में बढ़ रहे जलस्तर के दृष्टिगत बचाव कार्य व बाढ़ के दौरान विषाणु जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए पूरी तैयारी पहले से ही रखी जाए।

उन्होंने उतरौला-फैजाबाद मार्ग के निर्माण में वन विभाग से एनओसी मिलने में देरी होने के कारणों से संबंधित विवरण दो दिन के भीतर उपलब्ध कराने के लिए आयुक्त, देवीपाटन को निर्देशित किया। इसी प्रकार दतौली से मनकापुर मार्ग के सुदृढ़ीकरण के स्वीकृत कार्य में एक विडर के अयोग्य होने पर मामला  न्यायालय में लंबित होने पर उन्होंने जिलाधिकारी से इस संबंध में तीन  दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा। 

आगामी पहली जुलाई से प्रारंभ हो रहे संचारी रोग नियंत्रण अभियान के कार्यक्रमों में भीड़ न हो, इसका ध्यान रखा जाए तथा पांच जुलाई को प्रदेश में होने वाले 25 करोड़ पेड़ लगाने के अभियान की सफलता हेतु जनप्रतिनिधियों को अलग-अलग स्थानों पर ले जाकर उनकी उपस्थिति में वृक्षारोपण के अभियान को पूरी तरह सफल बनाने की कार्य योजना इस प्रकार बनाई जाए कि कहीं भी भीड़ न होने पाए। – योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री