कोई थानेदार तो कोई प्रशासनिक अधिकारी बनेगी बहराइच की छात्रा

भाषा भाषा
उत्तर प्रदेश Updated On :
फाइल फोटो


बहराइच। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाये जा रहे मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत बहराइच में छात्राओं को एक दिन का प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी बनाकर उन्हें उस पद के अनुभवों से रूबरू कराया जाएगा।

मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना ने बृहस्पतिवार को बताया कि मिशन शक्ति के अगले चरण में प्रत्येक ब्लाक एवं तहसील स्तर पर छात्राओं को अधिकारी बनने के अनुभवों से रूबरू कराया जाएगा।

छात्राओं को अधिकारियों की निर्णय लेने की क्षमता से अवगत कराया जाएगा, जिससे छात्राएं प्रशासनिक पदों की मर्यादा, अधिकार और लोगों की मदद करने की क्षमता से अवगत हो सकें तथा दोहरी लगन से अपना लक्ष्य पाने के लिए मेहनत करें।

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि जिला कलेक्ट्रेट में आयोजित “हक की बात जिलाधिकारी के साथ” कार्यक्रम में मौजूद छात्राओं, महिलाओं व अधिकारियों को भी इस सिलसिले में जानकारी दी गई।

पुलिस अधीक्षक विपिन मिश्र ने छात्राओं को एक दिन का थानेदार बनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि एक दिन के लिए पूरे थाने का प्रभार छात्राओं को दिया जाएगा, उस दिन सभी पुलिसकर्मी उनके आदेशों का पालन करेंगे और इस कदम से छात्राओं में आत्मविश्वास बढ़ने के साथ पुलिस के प्रति उनकी भ्रांतियां व डर भी दूर हो सकेगा।

जिलाधिकारी शंभूकुमार ने महिलाओं की शिक्षा को लेकर विशेष प्रयास करने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि क्षमतावान होने के बावजूद बहुत सी बेटियां विभिन्न कारणों से आगे नहीं बढ़ पाती हैं और सरकार और प्रशासन लगातार कई योजनाओं के माध्यम से ऐसी बेटियों की मदद कर रहे हैं।

गौरतलब है कि पिछले माह नवरात्र के पहले दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में मिशन शक्ति कार्यक्रम का आगाज किया था। कार्यक्रम शारदीय नवरात्र से वासंतिक नवरात्र तक चलेगा।