मुंबई से लौटा था बेटा, मां बाप ने नहीं दी घर में घुसने की इजाजत


कोरोना वायरस के चलते मुंबई में शटडाउन के बाद किसी तरह एक युवक आखिरी ट्रेन पकड़कर घर पहुंचा. महराजगंज जिले के धानी क्षेत्र के कानापार का रहने वाले इस युवक ने जैसे ही घर में दाखिल होने की कोशिश की, दरवाजे पर ही मां-बाप ने उसे रोक दिया



कोरोना वायरस दिन ब दिन विकराल संकट में बदल रहा है. बुधवार तक भारत में कोरोना से 11 मौतों की पुष्टि हो चुकी है वहीँ 508 संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं. इसी के चलते देशभर में कम्पलीट लॉकडाउन की घोषणा की गई. उत्तरप्रदेश में इस लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जा रहा है. इसके चलते उत्तरप्रदेश राज्य को उत्तराखंड राज्य के बॉर्डर से अलग करने के निर्देश दिए गए हैं. धीरे-धीरे इस लॉक डाउन को लेकर लोगों में भी गंभीरता नज़र आने लगी है. ताज़ा प्रकरण उत्तरप्रदेश के महाराजगंज का है.

मुंबई से घर लौटे युवक को नहीं मिली घर में घुसने की इजाज़त  

कोरोना वायरस के चलते मुंबई में शटडाउन के बाद किसी तरह एक युवक आखिरी ट्रेन पकड़कर घर पहुंचा. महराजगंज जिले के धानी क्षेत्र के कानापार का रहने वाले इस युवक ने जैसे ही घर में दाखिल होने की कोशिश की, दरवाजे पर ही मां-बाप ने उसे रोक दिया और पहले अस्पताल जाकर कोरोना की जांच कराने की बात कही. बेटा सफाई देता रहा कि उसे कोरोना नहीं हुआ है लेकिन उसके माता-पिता ने जांच के लिए लौटा दिया. इसके बाद बेटे ने सिद्धार्थनगर जिला अस्पताल में जांच कराई और कोरोना का लक्षण न मिलने पर घर लौटा.

स्वस्थ होने का रिपोर्ट दिखाने पर मिली घर में एंट्री 

यह युवक सोमवार को मुंबई से घर आया. मां-बाप ने जब घर में घुसने से पहले कोरोना की जांच करवाने को कहा तो वह वापस लौट कोरोना की जांच कराने के लिए धानी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गया. जब वहां जांच नहीं हो पाई तो वह सिद्धार्थनगर जनपद के जिला अस्पताल पहुंचा. वहां सामान्य जांच हुई, जिसमें डाक्टरों ने बताया कि कोरोना का लक्षण नहीं है. उसके बाद रिपोर्ट लेकर बेटा घर पहुंचा और तब उसे घर में प्रवेश मिला.

माता-पिता ने कहा कोरोना से लड़ने के लिए एहतियात जरूरी है

 

मुंबई से आए बेटे को घर में घुसने से मना कर कोरोना की जांच के लिए अस्पताल भेजने वाले पिता का कहना है कि यह सतर्कता के लिए जरूरी है. थोड़ी-सी लापरवाही मुश्किल हालात पैदा कर सकती है. बेटा कोरोना की जांच कराकर आ गया है. कुछ दिन तक वह घर में ही दूरी बनाए रहेगा. यह सभी लोगों को करना चाहिए.