शामली में माहौल खराब करने की साजिश का पुलिस ने 48 घंटे के भीतर किया खुलासा


पुलिस ने आरोपी के रूप में गांव गढ़ी रामकौर निवासी अरविंद पुत्र धीर सिंह नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि अरविंद वारदात की रात मंदिर में पहुंचा था। वहां पर उसने नशा किया। नशे की ओवरडोज होने के बाद उसने मंदिर के भर्ती जाकर शिवलिंग और हनुमान जी की मूर्ति को खंडित कर दिया।


भास्कर न्यूज भास्कर न्यूज
उत्तर प्रदेश Updated On :

शामली। पुलिस ने जनपद में मंदिर में तोड़फोड़ कर धार्मिक वारदातों को आहत करने की साजिश का महज 48 घंटों में खुलासा कर दिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी एक नशेड़ी बताया जा रहा है, जिसने नशे की ओवरडोज लेने के बाद शिवलिंग और देव प्रतिमा को खंडित कर दिया था। एसपी ने वारदात का खुलासा करने वाली कांधला पुलिस की पीठ थपथपाई है। 

क्या है पूरा मामला ?

गत सोमवार की सुबह कांधला थाना क्षेत्र के गांव गढ़ी रामकौर के एक मंदिर में कुछ श्रद्धालु पहुंचे थे, लेकिन मौके का मंजर देखकर उनके होश उड़ गए। दरअसल, मंदिर में तोड़फोड़ करते हुए शिवलिंग और हनुमान जी की प्रतिमा को खंडित किया गया था। इससे श्रद्धालुओं की धार्मिक भावना आहत होना लाजिमी था। इसके बावजूद भी गांव के लोगों ने शांति का परिचय देते हुए पुलिस को मामले की जानकारी दी थी। 

पुलिस ने भी तत्काल मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल शुरू कर दी थी। वारदात के संबंध में मंदिर समिति के सदस्य ब्रजपाल की तहरीर पर कांधला थाने पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। एसपी ने वारदात को चुनौती के रूप में लेते हुए सीओ और कांधला थानाध्यक्ष कर्मवीर सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर खुलासे का टॉस्क सौंपा था। 

गढ़ी रामकौर में धार्मिक स्थल पर हुई वारदात का पुलिस ने महज 48 घंटों में खुलासा कर दिया है। आरोपी युवक के रूप में गांव के ही अरविंद को गिरफ्तार किया गया है, जो नशे की लत के चलते मानसिक रूप से बीमार बताया जा रहा है। आरोपी को गिरफ्तार कर वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।
-विनीत जायसवाल, एसपी शामली

48 घंटे में आरोपी तक पहुंची पुलिस 

मंदिर में तोड़फोड़ की वारदात का पुलिस ने महज 48 घंटों में खुलासा कर दिया है। पुलिस ने आरोपी के रूप में गांव गढ़ी रामकौर निवासी अरविंद पुत्र धीर सिंह नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि अरविंद वारदात की रात मंदिर में पहुंचा था। वहां पर उसने नशा किया। नशे की ओवरडोज होने के बाद उसने मंदिर के भर्ती जाकर शिवलिंग और हनुमान जी की मूर्ति को खंडित कर दिया। पुलिस के अनुसार वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी नशे की ओवरडोज की वजह से मौके पर ही बेहोश हो गया था। काफी देर बाद होश आने के बाद वह मौके से फरार हो गया था। 

मानसिक रूप से बीमार बताया जा रहा युवक 

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक युवक मानसिक रूप से बीमार लग रहा है। संभवतः नशे की लत के चलते उसकी यह हालत हुई है। इसी वजह से उसने इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दिया, हालांकि पुलिस अभी आरोपी से अन्य दृष्टिकोण के तहत भी पूछताछ में जुटी हुई है। एसपी ने वारदात का शीघ्रता से खुलासा करने वाली कांधला पुलिस की पीठ थपथपाई है।