मां ने की बेटी के अपहरण की शिकायत, पिता ही निकला अपहर्ता


ललितपुर जिले के पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बेग ने बताया कि एक महिला ने ललितपुर रेलवे जंक्शन पर तैनात आरपीएफ जवानों को सोमवार तड़के बताया कि उसकी तीन साल की बच्ची का अपहरण कर अपहर्ता रेलवे जंक्शन से किसी ट्रेन में सवार होकर फरार हो गया है।


भाषा भाषा
उत्तर प्रदेश Updated On :

ललितपुर रेलवे जंक्‍शन से तीन वर्षीय एक बच्‍ची के कथित अपहरण की शिकायत मिलने पर रेलवे पुलिस बल (आरपीएफ) ने एक ट्रेन को 201 किलोमीटर तक बिना रोके भोपाल ले जाकर अपहर्ता को पकड़कर बच्ची को बरामद कर लिया। हालांकि कथित अपहर्ता बच्‍ची का ही पिता निकला। बच्‍ची की मां ने पुलिस से अपहरण की शिकायत की थी।

ललितपुर जिले के पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बेग ने बताया कि एक महिला ने ललितपुर रेलवे जंक्शन पर तैनात आरपीएफ जवानों को सोमवार तड़के बताया कि उसकी तीन साल की बच्ची का अपहरण कर अपहर्ता रेलवे जंक्शन से किसी ट्रेन में सवार होकर फरार हो गया है। इस शिकायत पर जवानों ने रेलवे जंक्शन (स्टेशन) में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली, जिसमें एक व्यक्ति भोपाल जाने वाली राप्ती-सागर सुपर फास्ट एक्सप्रेस में बच्ची के साथ सवार होता दिखा।

उन्होंने बताया कि आरपीएफ जवानों ने घटना की सूचना झांसी जंक्शन पर तैनात अपने निरीक्षक को दी और निरीक्षक ने यह सूचना भोपाल स्थित परिचालन नियंत्रण कक्ष को देकर भोपाल तक ट्रेन को किसी अन्य स्टेशन पर न रोके जाने का अनुरोध किया, ताकि अपहर्ता को बीच में उतरने का मौका न मिले।

बेग ने बताया कि सुबह भोपाल जंक्शन पहुंचते ही ट्रेन को आरपीएफ जवानों, रेलवे पुलिस और रेलवे अधिकारियों ने चारों तरफ से घेर लिया तथा ट्रेन की एक बोगी में सवार कथित अपहर्ता को हिरासत में लेकर बच्ची को भी बरामद कर लिया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जांच के दौरान रेलवे अधिकारियों को पता चला कि बच्ची का कथित अपहर्ता कोई और नहीं, बल्कि उसका ही पिता है, जो पत्नी से विवाद होने पर अकेले बच्ची को लेकर कहीं जा रहा था। इस बीच, उसकी पत्नी ने बच्ची का अपहरण होने की शिकायत कर दी।

उन्होंने बताया कि रेलवे पुलिस ने पति-पत्नी के बीच समझौता करा दिया और बच्ची को उनको सौंप दिया। इस संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।