विंध्‍य क्षेत्र में 5.5 करोड़ की पेयजल परियोजना का PM मोदी ने किया शिलान्‍यास


पीएम ने सभा को आनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि यह ऐसा क्षेत्र है जिसे आजादी के बाद दशकों तक उपेक्षित रखा गया था, इस क्षेत्र की सबसे अधिक उपेक्षा की गई। विंध्याचल हो या बुंदेलखंड बहुत सारे संसाधन होने के बावजूद ये क्षेत्र कमियों के क्षेत्र बन गए थे।


भास्कर ऑनलाइन भास्कर ऑनलाइन
उत्तर प्रदेश Updated On :

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जल जीवन मिशन, उत्‍तर प्रदेश के अन्‍तर्गत विंध्‍य क्षेत्र के मिर्जापुर एवं सोनभद्र जिलों की 23 ग्रामीण पाइप पेयजल परियोजनाओं का शिलान्‍यास वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्‍यम से किया।

पीएम ने सभा को आनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि यह ऐसा क्षेत्र है जिसे आजादी के बाद दशकों तक उपेक्षित रखा गया था, इस क्षेत्र की सबसे अधिक उपेक्षा की गई। विंध्याचल हो या बुंदेलखंड बहुत सारे संसाधन होने के बावजूद ये क्षेत्र कमियों के क्षेत्र बन गए थे।

कई नदियां होने के बावजूद इन क्षेत्रों को सबसे प्यासा और सूखा प्रभावित क्षेत्रों के रूप में जाना जाता था। इतने सारे लोगों को यहां से पलायन करने के लिए मजबूर किया गया। ‘हर घर जल’ योजना का एक वर्ष पूरा हो गया है।

2.60 करोड़ से अधिक परिवारों ने अपने घरों में नलों के माध्यम से स्वच्छ पेयजल की सुविधा लेना शुरू कर दिया है। आज शुरू हुई परियोजनाओं को आगे और गति मिलेगी।

सोनभद्र के कोटा ग्राम पंचायत के गुरमुरा में हर घर पेयजल योजना के शुभारंभ के दौरान प्रधानमंत्री ने वर्चुअल संवाद के दौरान फूलपति देवी से बात की। उन्‍होंने क‍हा कि अपने फैसले लेने पर गांव के हर व्‍यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ता है।

योजना पर कुल 5,555.38 करोड़ रुपये की लागत आएगी। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ मुख्‍य कार्यक्रम स्‍थल सोनभद्र जिले के विकास खंड चतरा की ग्राम पंचायत करमांव में शामिल हुए।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार मिर्जापुर में नौ और सोनभद्र में 14 परियोजना शुरू करने जा रही है जिससे 41 लाख से ज्‍यादा ग्रामीणों को हर घर नल योजना की सौगात मिलेगी। जल शक्ति मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक अगले दो साल के भीतर योजना को पूरा कर गांवों में पानी की आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी।



Related