माटी शिल्पकारों का विकास करेगी सरकार


मुख्‍यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत सामान्‍य महिला एवं आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को दस लाख रुपये तक ब्‍याज रहित कर्ज तथा सामान्‍य वर्ग के पुरुष लाभार्थियों को चार प्रतिशत वार्षिक ब्‍याज पर बैंकों के माध्‍यम से कर्ज उपलब्‍ध कराने की व्‍यवस्‍था की गई है।


भाषा भाषा
उत्तर प्रदेश Updated On :

लखनऊ। पारंपरिक ‘माटीकला’ की परंपरागत कला और कारीगरों को संरक्षण और बढ़ावा देने के लिए उत्‍तर प्रदेश के बजट 2021-22 में 10 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

मुख्‍यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत सामान्‍य महिला एवं आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को दस लाख रुपये तक ब्‍याज रहित कर्ज तथा सामान्‍य वर्ग के पुरुष लाभार्थियों को चार प्रतिशत वार्षिक ब्‍याज पर बैंकों के माध्‍यम से कर्ज उपलब्‍ध कराने की व्‍यवस्‍था की गई है।

वित्त वर्ष 2021-2022 के बजट में वस्त्र उद्योग के क्षेत्र में 25,000 रोजगार सृजित करने का लक्ष्य रखा गया है। राज्य सरकार द्वारा रियायती दर पर पावरलूम बुनकरों को बिजली की आपूर्ति की जाएगी।

आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में यमुना एक्‍सप्रेस-वे में जेवर हवाई अड्डे के समीप एक इलेक्‍ट्रॉनिक सिटी की स्‍थापना, बुंदेलखंड में रक्षा इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स मैन्‍युफैक्‍चरिंग कलस्‍टर की स्‍थापना का लक्ष्‍य रखा गया है। लखनऊ में हवाई अड्डे के सामने नादरगंज में 40 एकड़ क्षेत्रफल में पीपीपी मॉडल पर अत्‍याधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी कॉम्‍प्‍लेक्‍स का निर्माण प्रस्‍तावित किया गया है।