गोमती रिवरफ्रंट के पूर्व कार्यकारी अभियंता और सहायक को सीबीआई ने किया गिरफ्तार


सीबीआई ने राज्य की भाजपा सरकार की सिफारिश के बाद 2017 में मामले की जांच का जिम्मा अपने हाथ में लिया था। भाजपा सरकार ने कथित अनियमितताओं पर गौर करने के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय के एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया था।


भाषा भाषा
उत्तर प्रदेश Updated On :

नई दिल्ली। सीबीआई ने उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान शुरू की गयी गोमती रिवरफ्रंट विकास परियोजना में कथित अनियमितताओं को लेकर एक पूर्व कार्यकारी अभियंता और एक वरिष्ठ सहायक को गिरफ्तार कर लिया।

अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि तत्कालीन कार्यकारी अभियंता रूप सिंह यादव और नहर एवं सिंचाई विभाग के एक वरिष्ठ सहायक को गिरफ्तार किया गया है।

सीबीआई ने राज्य की भाजपा सरकार की सिफारिश के बाद 2017 में मामले की जांच का जिम्मा अपने हाथ में लिया था। भाजपा सरकार ने कथित अनियमितताओं पर गौर करने के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय के एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया था।

अधिकारियों ने कहा कि समिति ने प्रथम दृष्टया परियोजना में प्रशासनिक अनियमितता पाई और उसने कई अधिकारियों के खिलाफ गहन जांच की सिफारिश की थी।