नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा- अखिलेश के मुख्यमंत्री बनते ही केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जेल जाएंगे

Satish Yadav Satish Yadav
बलिया Updated On :

बलिया। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सूबे में सियासी पारा हाई है। राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे के खिलाफ जमकर बयानबाजी कर रही हैं। लखीमपुर हिंसा ने सत्तारुढ़ दल बीजेपी को बैकफुट पर लाकर खड़ा कर दिया है इसको लेकर प्रदेश की सारी विपक्षी पार्टियां सरकार पर लगातार हमलावर हैं इस सिलसिले में प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष और सामाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोविंद चौधरी ने मंगलवार को सरकार पर जमकर हमला बोला।

समाचार एजेंसी पीटीआई के खबर के मुताबिक राम गोविंद चौधरी ने मंगलवार को दावा किया कि जिस दिन अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे उसी दिन केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा ‘टेनी’ जेल जाएंगे।

चौधरी ने योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्‍व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि योगी सरकार इतिहास में हत्यारों, दुष्कर्मियों और उत्पीड़कों की मदद करने तथा आम आदमी का उत्पीड़न व दोहन करने के लिए याद की जाएगी।

चौधरी ने मंगलवार को यहां जारी एक बयान में कहा, ‘लखीमपुर के हृदय विदारक मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री का भाषण आम हो चुका है और उन्हें उकसाने और साजिश रचने के मामले में जेल जाना ही है। जिस दिन अखिलेश यादव मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, उसी दिन वह जेल जाएंगे और अपने किए की सजा भुगतेंगे।’

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को तिकुनिया थाना क्षेत्र में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बनवीरपुर स्थित घर पर आयोजित एक कार्यक्रम में जा रहे उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के विरोध के दौरान भड़की हिंसा में चार किसान और एक पत्रकार समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी।

इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा ‘टेनी’ के पुत्र आशीष मिश्रा और अन्य लोगों के खिलाफ हत्या समेत अन्‍य संबंधित धाराओं में तिकुनिया थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने शनिवार की रात 12 घंटे की पूछताछ के बाद आशीष मिश्रा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। हालांकि, अपने बेटे की गिरफ्तारी से पहले केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने आरोपों का खंडन किया था।