झाड़ग्राम में हाथियों ने मचाया उत्पात, घर और फसल को किया तबाह

भाषा भाषा
पश्चिम बंगाल Updated On :

झाड़ग्राम। पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम में पिछले कुछ दिनों में हाथियों के झुंड के उत्पात की घटनाओं में कई मकान क्षतिग्रस्त हो गये, फसलें बर्बाद हो गयीं और एक बच्चा घायल हो गया। इससे नाराज स्थानीय लोगों ने राजमार्ग जाम कर दिया। अधिकारियों ने सोमवार को इस बारे में बताया।

अधिकारियों ने बताया कि पास के झारखंड के दलमा से 45 हाथियों के इस झुंड ने लालगढ़ में अधरजोड़ा, भैरवकुंडु, शालचतुरी और काबामारी गांवों में मकानों और फसलों को नष्ट कर दिया।

उन्होंने बताया कि हाथियों ने कंसावती नदी से सटे खेतों में फसलों, गन्नों और सब्जियों को नष्ट कर दिया। स्थानीय लोगों ने बताया कि हाथियों ने चार मकानों को भी क्षति पहुंचायी जिसमें एक बच्चा घायल हो गया।

प्रशासन से इन हाथियों को तत्काल भगाने की मांग करते हुए रविवार को स्थानीय लोगों ने धरुआ से होकर गुजरने वाले मिदनापुर-झारग्राम राजमार्ग को जाम किया। ग्रामीणों ने इलाके में क्षतिग्रस्त हुई फसलों और मकानों के एवज में मुआवजे की भी मांग की।

पुलिस ने बताया कि जिला प्रशासन के मामले में कार्रवाई के आश्वासन के बाद लोगों ने जाम हटा दिया। हाथियों ने एक पाइपलाइन को भी नुकसान पहुंचाया है जिसका इस्तेमाल कंसावती नदी के पानी से खेतों में सिंचाई के लिए होता है।

स्थानीय लोगों ने दावा किया कि पाइपलाइन के क्षतिग्रस्त होने से समूचे क्षेत्र में बोरो धान की फसल प्रभावित हो सकती है। वन विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि हाथियों का झुंड फिलहाल लालगढ़ के पास एक जंगली इलाके में है और उन्हें वापस भेजने का प्रयास किया जा रहा है।



Related