मंत्री, विधायकों व अधिकारियों की गाड़ी चोरी कर जीता था ऐश की जिंदगी, गिरफ्तार


रॉबिन शुरू से ही लग्जरी लाइफ जीता रहा है। इसके लिए वह पैसे की कमी पड़ने पर कार चोरी जैसी वारदात करने लगा था। कुछ साल बाद उसने कार चोरों की गैंग बनाई और गैंग वह सरगना बन गया।


भास्कर ऑनलाइन भास्कर ऑनलाइन
राज्य Updated On :

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, हरियाणा के स्पीकर ज्ञानचंद गुप्त के अलावा गुरुग्राम के आइपीएस अधिकारी, कई विधायकों और कारोबारियों की कारें चोरी करने वाले शातिर वाहन चोर को हरियाणा की फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके पकड़े जाने के बाद वाहन चोरी के कई मामलों का खुलासा हुआ है। इसने हरियाणा के अलावा यूपी और दिल्ली में भी वाहन चोरी की वारदात को अंजाम दिया है।

पुलिस के अनुसार, पकड़े गए अभियुक्त की पहचान रोबिन के रुप में की गई है। शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि यह मामूली चोर था, लेकिन बाद यह इन 22 गर्लफ्रेंड का खर्च उठाने के लिए गैंग बनाकर कार चोरी करने लगा। फिलहाल शातिर कार चोर रॉबिन गाजियाबाद पुलिस की गिरफ्त में है। दरअसल, गाजियाबाद पुलिस रॉबिन को फरीदाबाद से रिमांड पर लाई है और यहां पर लगातार पूछताछ चल रही है।

वहीं, गाजियाबाद पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि रॉबिन शुरू से ही लग्जरी लाइफ जीता रहा है। इसके लिए वह पैसे की कमी पड़ने पर कार चोरी जैसी वारदात करने लगा था। कुछ साल बाद उसने कार चोरों की गैंग बनाई और गैंग वह सरगना बन गया। उसने बताया कि वह कार चोरी कार धोने के बहाने सुबह-सुबह करता था। इस दौरान उसकी किसी भी गतिविधि पर किसी को शक भी नहीं होता था।

रॉबिन को पिछले दिनों फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद पूछताछ के आधार पर बागपत के शाहनवाज को पकड़ा गया। दरअसल, उससे 5 लाख रुपये में फॉर्च्यूनर कार खरीदी थी। शुरुआत में रॉबिन छोटी-मोटी चोरियां करता था। जब एक-एक कर उसकी 22 गर्लफ्रेंड बन गईं तो वह कार चोरी में हाथ आजमाने लगा। हिम्मत बढ़ी तो वह मंत्रियों और पुलिस के बड़े अफसरों तक की गाड़ियां चोरी करने लगा। इसके बाद गाड़ियों को उत्तर पूर्व के राज्यों मणिपुर और नागालैंड में बेचने लगा।