नगा मुद्दे के समाधान के लिए नगालैंड के सांसदों और विधायकों ने लिया केंद्र पर दबाव बनाने का फैसला


नगालैंड के सांसदों और विधायकों ने नगा राजनीतिक वार्ताकारों को एकसाथ लाने की दिशा में काम करने और नगा मुद्दे के शीघ्र समाधान के लिए केन्द्र पर दबाव बनाने का फैसला किया है।


भाषा भाषा
पूर्वोत्तर Updated On :

कोहिमा। नगालैंड के सांसदों और विधायकों ने नगा राजनीतिक वार्ताकारों को एकसाथ लाने की दिशा में काम करने और नगा मुद्दे के शीघ्र समाधान के लिए केन्द्र पर दबाव बनाने का फैसला किया है।

कोहिमा में सोमवार को ‘स्टेट बैंक्वेट हॉल’ में आयोजित राज्य सरकार की नगा राजनीतिक मुद्दे (एनपीआई) पर संसदीय समिति की बैठक में यह फैसला किया गया।

एनपीआई पर संसदीय समिति में 60 सदस्यीय नगालैंड विधानसभा के सभी विधायक और राज्य के दो सांसद शामिल हैं। नगा राजनीतिक मुद्दे के समाधान के लिए इसका गठन 10 जून को किया गया था और मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो इसके संयोजक, उपमुख्यमंत्री वाई पैटन और विपक्ष के नेता टीआर जेलियांग इसके सह संयोजक हैं।

राज्य के मंत्री नेइबा क्रोनू ने बताया कि लोकसभा सदस्य तोखेहो येप्थोमी संसद सत्र के कारण बैठक में शामिल नहीं हो सके। उन्होंने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, विपक्ष के नेता, राज्यसभा सदस्य केजी केन्ये और विधायकों ने इस मुद्दे पर अपने विचार साझा किए।

क्रोनू ने कहा कि बैठक में संसदीय समिति की कोर कमेटी के नौ जुलाई के प्रस्ताव पर भी चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि सबकी राय यही थी कि समय निकलता जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘हम मुद्दे के समाधान और समझौते पर पहुंचने के लिए नगा वार्ताकारों को एक साथ लाना चाहते हैं और जल्द समाधान के लिए केंद्र पर दबाव बनाना चाहते हैं।’’