गडकरी ने नगालैंड में कई राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास किया


केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल (डॉ.)वी के सिंह ने कहा कि नगालैंड एक खूबसूरत जगह है और उम्मीद है कि नई राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाएं राज्य में पर्यटकों को आकर्षित करेंगी।


भाषा भाषा
पूर्वोत्तर Updated On :

नई दिल्ली। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को नगालैंड में कई राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास किया और लगभग 266 किलोमीटर लंबी और लगभग 4127 करोड़ रुपये की लागत वाली 15 अन्य राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) परियोजनाओं की आधारशिला रखी।

नगालैंड में राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास और उनके सुधार के लिए पिछले 6 वर्षों में लगभग 11,711 करोड़ रुपये की लागत वाली कुल 1063.41 किलोमीटर लंबे सड़क मार्ग के 55 कार्यों को मंजूरी दी गई है।

सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार गडकरी ने नगालैंड में 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का वर्चुअल तरीके से उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस अवसर पर नगालैंड के मुख्यमंत्री श्री नेफियू रियो, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री जनरल (डॉ.)वी के सिंह, सांसद,विधायक और केंद्र तथा राज्य के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

गडकरी ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि केंद्र सरकार उत्तर पूर्व और नगालैंड के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि पिछले 6 वर्षों के दौरान नगालैंड में 667 किलोमीटर लंबी सड़क को एनएच नेटवर्क में जोड़ा गया, जो लगभग 76 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।

विज्ञप्ति के अनुसार गडकरी ने कहा कि राज्य में एनएच नेटवर्क को आज 1,547 किमी तक बढ़ा दिया गया है जो 2014 तक 880.68 किलोमीटर ही था। उन्होंने कहा कि नगालैंड में कुछ जिलों को छोड़कर लगभग सभी जिले राष्ट्रीय राजमार्गों के एक मजबूत नेटवर्क से जुड़े हुए हैं।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि नगालैंड में राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास और उनके सुधार के लिए पिछे 6 वर्षों में 11,711 करोड़ रुपये की कुल लागत वाले कुल 1063.41 किलोमीटर लंबी सड़क के 55 कार्यों को मंजूरी दी गई। इसमें दीमापुर सिटी (नगालैंड का सबसे बड़ा शहर) परियोजना के सुधार के हिस्से के रूप में लगभग 48 किलोमीटर की 3 सड़कें शामिल हैं जिनपर कुल 1,598 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

उन्होंने कहा कि 7,955 करोड़ रुपये की लागत वाली 690 किलोमीटर लंबी सड़क का 16 नंबर वाला कार्य प्रगति पर हैं। उन्होंने बताया कि 966.75 रुपये की कुल लागत वाले 105 किलोमीटर के अन्य सात कार्य अभी निविदा प्रक्रिया के चरण में हैं। उन्होंने यह भी संकेत दिया कि 2,127 करोड़ रुपये की लागत वाले 178 किलोमीटर लंबाई के 11 कार्यों को वर्ष 2020-21 के दौरान बढ़ी लागत के साथ मंजूरी दी जानी है। उन्होंने बताया कि 6,000 करोड़ रुपये से अधिक लागत वाले 524 किलोमीटर के पांच कार्य डीपीआर चरण में हैं।

गडकरी ने राज्य के मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि वे कोहिमा बाईपास के संबंध में भूमि और नुकसान क्षतिपूर्ति के लिए आकलन को तत्काल भेजें। उन्होंने यह भी बताया कि एनएचआईडीसीएल ने नगालैंड में कोहिमा-माओ सड़क के दोहरीकरण (2-लेन) का कार्य लिया है, और सिविल कार्य पहले ही 30.09.2020 को दिया जा चुका है। नियुक्त तिथि 20 अक्टूबर,2020 घोषित की गई है और ठेकेदार निर्माण स्थल पर जुट गए हैं। उन्होंने कहा कि नुकसान की क्षतिपूर्ति के अनुमान का इंतजार है।

नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने केंद्रीय मंत्री से राज्य में तलहटी सड़कों के विकास पर विचार करने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने दीमापुर-कोहिमा सड़क का मुद्दा भी उठाया, जिसे नगालैंड की जीवन रेखा कहा जाता है। श्री गडकरी ने जवाब में कहा कि काम प्रगति पर है, और इस सड़क पर 70-80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल (डॉ.)वी के सिंह ने कहा कि नगालैंड एक खूबसूरत जगह है और उम्मीद है कि नई राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाएं राज्य में पर्यटकों को आकर्षित करेंगी।



Related