विस्फोटक लदी कार बरामदगी मामले में परमबीर सिंह की भूमिका बेहद संदिग्ध: देशमुख

भाषा भाषा
महाराष्ट्र Updated On :

मुंबई/नागपुर। महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक सामग्री के साथ एक गाड़ी बरामद होने से संबंधित मामले में मंगलवार को मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह की ‘बेहद संदिग्ध’ भूमिका का आरोप लगाया। NCP नेता देशमुख ने कहा कि सिंह ने बदला लेने की भावना से उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के झूठे आरोप लगाए।

देशमुख ने कहा कि पुलिस विभाग के अधिकारियों और कुछ कारोबारियों ने वर्तमान में महाराष्ट्र होम गार्ड के महानिदेशक के तौर पर तैनात परमबीर सिंह के खिलाफ जबरन उगाही और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। नागपुर हवाई अड्डे पर देशमुख ने संवाददाताओं से कहा, ‘ सीबीआई ने परमबीर सिंह द्वारा मेरे खिलाफ लगाए गए झूठे आरोपों के आधार पर मुकदमा दर्ज किया है। मैंने न्याय के लिए उच्च न्यायालय का रुख किया है।

कहा, परमबीर सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप की खबरें रोजाना अखबारों और टीवी चैनलों पर नजर आ रही हैं। कई चीजें सामने आ चुकी हैं जोकि उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक सामग्री के साथ एसयूवी मिलने और ठाणे के कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या मामले में निलंबित अधिकारी सचिन वाजे और परमबीर सिंह की भूमिका को दर्शाती हैं। मुझे लगता है कि एनआईए इस मामले में परमबीर सिंह की संदिग्ध भूमिका को लेकर जांच करेगी।