वेब सीरीज हंगामा: मप्र के गृहमंत्री ने कहा, आपत्तिजनक सामग्री पर निर्माताओं को सूचित करना चाहिए

भाषा भाषा
मध्य प्रदेश Updated On :

भोपाल। हिंदू धर्म के कथित गलत चित्रण को लेकर भोपाल में फिल्म निर्माता प्रकाश झा की वेब सीरीज ‘‘आश्रम’’ के सेट पर तोड़फोड़ किये जाने के एक दिन बाद मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने सोमवार को कहा कि प्रदेश में शूटिंग की अनुमति लेने से पहले निर्माताओं व निर्देशकों को अपनी कहानियों की आपत्तिजनक सामग्री या दृश्यों के बारे में अधिकारियों को सूचित करना होगा।

बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने रविवार शाम यहां वेब-सीरीज ‘आश्रम-3’ के सेट में पथराव व तोड़फोड़ करने के साथ इसके निर्माता एवं निर्देशक प्रकाश झा पर हिंदुओं को गलत तरीके से चित्रित करने का आरोप लगाते हुए स्याही फेंकी। इस मामले में पुलिस ने देर रात को हंगामा करने के लिए चार लागों को गिरफ्तार किया है।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सोमवार को यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘आश्रम-3 की शूटिंग के दौरान हुए विवाद के बाद हम स्थाई दिशा-निर्देश जारी करने जा रहे हैं। अब (निर्माता-निर्देशक) अनुमति लेने से पहले प्रशासन को कहानी की पटकथा दिखाने की आवश्यकता होगी यदि वे आपत्तिजनक दृश्यों को शूट करने जा रहे हैं जो किसी भी धर्म की भावनाओं को आहत करते हैं।’’

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार यहां शूटिंग के लिए फिल्म निर्माताओं का स्वागत करती है लेकिन उन्हें अनुमति लेने से पहले अधिकारियों को आपत्तिजनक दृश्यों के बारे में सूचित करना चाहिए और जिन लोगों को किसी पटकथा या दृश्य पर आपत्ति है तो उन्हें प्रशासन से इसकी शिकायत करना चाहिए।

एक सवाल के जवाब में मिश्रा ने कहा कि वेब सीरीज आश्रम का नाम बदलने की बजरंग दल की मांग का वह समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं भी इसका समर्थन करता हूं। इस वेब सीरीज का नाम आश्रम क्यों रखा गया? यदि वे इसका नाम दूसरे (धर्म) के नाम पर रखते तब वे समझते (इसके परिणाम)? हम तोड़फोड़ को गलत मानते हैं। चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है और आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी, लेकिन झा साहब (प्रकाश झा) अपनी गलतियों के बारे में भी सोचें?’’

बाद में मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘‘वेब सीरीज के नाम पर लंबे समय से जानबूझकर हिंदू धर्म को निशाना बनाने की कोशिश की जा रही है। बहुसंख्यक समाज की भावना को देखते हुए प्रकाश झा को अपनी वेब सीरीज का नाम बदलने पर विचार करना चाहिए।’’ भोपाल दक्षिण के पुलिस अधीक्षक साई कृष्ण थोटा ने रविवार को ‘भाषा’ को बताया कि अरेरा हिल्स स्थित पुरानी जेल में प्रकाश झा की वेब सीरीज आश्रम-3 की शूटिंग के दौरान इसके नाम को लेकर बजरंग दल ने रविवार शाम वहां जाकर आपत्ति की और प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने प्रकाश झा पर स्याही फेंकी और वहां पथराव भी किया। इस पथराव में वहां पार्किंग में खड़ी दो बसों के कांच टूट गये और एक व्यक्ति घायल हो गया।

झा पर स्याही फेंकने के बात स्वीकार करते हुए बजरंग दल के प्रदेश संयोजक सुशील सुढेले ने कहा कि उनके कार्यकर्ता भोपाल में वेब-सीरीज आश्रम की शूटिंग नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि आश्रम-3 नाम को लेकर उन्हें आपत्ति है, क्योंकि झा जिस तरीके से इसमें अश्लील दृश्यों का फिल्मांकन कर रहे हैं, इस प्रकार की आश्रमों में व्यवस्थाएं नहीं होती हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘झा ने गुरुओं द्वारा महिलाओं के शोषण को दिखाकर पहले के सीजनों में हिंदू आश्रम में व्यवस्थाओं को गलत तरीके से चित्रित किया था। इस वेब सीरीज में जो दिखाया गया है, उसमें कोई सच्चाई नहीं है।’’



Related