किसानों पर मुकदमे दर्ज कर आंदोलन को बदनाम कर रही हरियाणा सरकार: कांग्रेस

भास्कर न्यूज भास्कर न्यूज
हरियाणा Updated On :

गुरुग्राम। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस समिति की अध्यक्ष, कुमारी सैलजा के राजनैतिक सचिव व दक्षिण हरियाणा के प्रभारी राजन राव ने भाजपा की केंद्र और हरियाणा सरकार पर किसान आंदोलन को बदनाम करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि किसानों पर झूठे मुकदमे दर्ज कर सरकार आंदोलन को बदनाम करने का प्रयास कर रही है। सरकार की ओर से पहले दिन से ही यह प्रयास जारी है लेकिन देशवासी सारी हकीकत जानते हैं।

उन्होंने कहा की सरकार को तत्काल किसान नेताओं को बातचीत के लिए आमंत्रित करना चाहिए और जल्द से जल्द किसानों की समस्या का हल निकाल आंदोलन का समाधान करना चाहिए। सरकार की हठधर्मिता के कारण 12 दौर की वार्ता बेनतीजा रही है। अब सरकार को एक बात समझते हुए बातचीत का रास्ता आगे बढ़ाना चाहिए कि किसान आंदोलन को खत्म करने का हल केवल और केवल उसे ही ढूंढना है।

किसान तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने के लिए पिछले 6 महीने से सर्दी, बरसात और अब कड़कती धूप और गर्मी में सड़कों पर बैठे हैं तो सरकार को समझना चाहिए कि निश्चित ही यह आंदोलन तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने को लेकर ही किया जा रहा है। उन्होंने टोहाना की घटना की निंदा करते हुए कहा कि सरकार किसानों पर दर्ज मुकदमे तत्काल वापस ले तथा जेल भेजे गए किसानों को तुरंत रिहा किया जाए।

उन्होंने कहा कि किसान अपने रुख पर कायम है। सरकार को हठधर्मिता छोड़कर किसान आंदोलन का समाधान अब निकालना ही होगा। उन्होंने कहा की हरियाणा में किसानों के खिलाफ मुकदमे दर्ज कर सरकार आंदोलन का रूप हरियाणा की तरफ मोड़ना चाहती है लेकिन सरकार यह अच्छी तरह समझ ले के यह आंदोलन दिल्ली की सत्ता के खिलाफ है और किसी भी कीमत पर आंदोलन की दिशा नहीं मोड़ी जा सकती।

उन्होंने कहा कि देश के कृषि मंत्री से लेकर गृहमंत्री और प्रधानमंत्री तक किसानों की समस्या को समझ रहे हैं बावजूद उसके इस आंदोलन का हाल निकालने का कतई प्रयास नहीं किया जा रहा है। सरकार साफ सच्चे और इमानदार मन से किसानों को वार्ता के लिए आमंत्रित करें तथा किसान आंदोलन का हल निकाले। देश के अन्नदाता के साथ-साथ पूरा देश यही चाहता है किती ने कृषि कानूनों को रद्द कर आंदोलन को यही समाप्त कराया जाए।



Related