पंजाब किंग्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को छह विकेट पर 134 रन पर रोका

भाषा भाषा
खेल Updated On :

दुबई। पंजाब किंग्स ने गुरूवार को सलामी बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस के 55 गेंद में 76 रन बनाने के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स को इंडियन प्रीमियर लीग के अंतिम लीग मैच में छह विकेट पर 134 रन ही बनाने दिये।

चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) अनुभवी खिलाड़ी डु प्लेसिस की अर्धशतकीय पारी की बदौलत ही यह स्कोर बना सकी जिन्होंने अंतिम दो ओवर में 26 रन जोड़े।

पंजाब किंग्स के लिये लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने अपने स्पैल से प्रभावित किया जिसमें उन्होंने चार ओवर में 25 रन देकर सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का विकेट झटका जबकि अर्शदीप सिंह और क्रिस जोर्डन ने दो दो विकेट झटके।

डु प्लेसिस ने अकेले बल्लेबाजी की जिम्मेदारी संभालते हुए पंजाब के गेंदबाजों का डटकर सामना किया। 18वें ओवर में उन्होंने टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने के प्रयास में जोर्डन के तीसरे ओवर में दो बाउंड्री लगायी।

दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी ने फिर दो और छक्के जड़े जिसमें अर्शदीप के ओवर के अलावा अंतिम ओवर में मोहम्मद शमी पर लगा। रविंद्र जडेजा 17 गेंद में एक छक्के से 15 रन बनाकर नाबाद रहे।

इससे पहले चौथे ओवर में चेन्नई ने अपने फार्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज रितुराज गायकवाड़ (12) का विकेट गंवा दिया जिन्हें अर्शदीप ने अपनी बाउंसर गेंद पर मिडविकेट पर कैच आउट कराया।

पर इसके बाद मोईन अली खाता भी नहीं खोल सके और अर्शदीप के दूसरे शिकार बने जिनकी गुडलेंथ गेंद उनके बल्ले को चूमकर सीधे विकेटकीपर और कप्तान केएल राहुल के हाथों में समा गयी।

सीएसके के पावरप्ले में दो विकेट पर 30 रन के स्कोर से पता चलता है कि पंजाब के गेंदबाजों को खेलने में उनके बल्लेबाजों को कितनी परेशानी हो रही थी। शमी का पहला स्पैल शानदार रहा जिसमें उन्होंने केवल छह रन दिये।

रॉबिन उथप्पा ने क्रीज पर जमने की कोशिश में छह गेंद ही खेली थी कि जोर्डन की गेंद पर क्षेत्ररक्षक हरप्रीत बरार ने डीप स्क्वायर लेग पर भागते हुए उनका कैच लपका।

अंबाती रायुडू भी आते ही चलते बने और जोर्डन ने उन्हें अपना दूसरा शिकार बनाया। तीन बार की चैम्पियन सीएसके का स्कोर 10 ओवर में 50 रन था। खराब फार्म से जूझ रहे धोनी ने बिश्नोई की गुगली पर आउट होने से पहले 12 रन बनाये।