सेंसेक्स में 200 अंकों से अधिक की तेजी, रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा


प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स में बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 200 अंकों से अधिक की बढ़ोतरी हुई। इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज में तेजी से बाजार को मजबूती मिली, जबकि वैश्विक बाजारों से कमजोर संकेतों ने बाजार की धारणा को कमजोर किया।


भास्कर ऑनलाइन भास्कर ऑनलाइन
देश Updated On :

प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स में बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 200 अंकों से अधिक की बढ़ोतरी हुई। इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज में तेजी से बाजार को मजबूती मिली, जबकि वैश्विक बाजारों से कमजोर संकेतों ने बाजार की धारणा को कमजोर किया।

इस दौरान 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 30,856.14 के ऊपरी स्तर को छूने के बाद 130.78 अंक या 0.43 प्रतिशत बढ़कर 30,767.49 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह एनएसई निफ्टी 17.50 अंक या 0.19 प्रतिशत की बढ़त के साथ 8,998.95 पर था।

सेंसेक्स में रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) में सबसे अधिक सात प्रतिशत की बढ़त देखने को मिली। फेसबुक के जियो प्लेटफार्म्स में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए 5.7 अरब अमरीकी डालर (43,574 करोड़ रुपये) के निवेश की घोषणा के बाद रिलायंस के शेयरों में तेजी देखने को मिली।

इसके अलावा सन फार्मा, एशियन पेंट्स, मारुति, अल्ट्राटेक सीमेंट और इंफोसिस में भी तेजी देखने को मिली। दूसरी ओर ओएनजीसी, पावरग्रिड, बजाज फाइनेंस, इंडसइंड बैंक और एचडीएफसी घाटे के साथ कारोबार कर रहे थे।

पिछले सत्र में सेंसेक्स 1,011.29 अंक या 3.20 प्रतिशत कम होकर 30,636.71 अंक पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 280.40 अंक या 3.03 प्रतिशत लुढ़ककर 8,981.45 पर आ गया था। शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मंगलवार को पूंजी बाजार में सकल आधार पर 2,095.23 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों को बेचा।

रुपया शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा

भारतीय रुपया बुधवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अब तक के सबसे निचले स्तर 76.88 तक लुढ़क गया। विदेश में डॉलर के मजबूत होने और देश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते रुपये पर दबाव देखने को मिला।

इससे पहले 16 अप्रैल को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 76.87 तक फिसल गया था। मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि रुपये में कमजोरी मुख्य रूप से विदेश में डॉलर के मजबूत होने के चलते आई। उन्होंने बताया कि निवेशक द्वारा सुरक्षित निवेश की तलाश के चलते डॉलर की मांग बढ़ी है। अंतरबैंक विदेशी मु्द्रा बाजार में रुपया 76.86 पर खुला और पिछले बंद भाव के मुकाबले पांच पैसे नीचे गिरकर 76.88 के स्तर पर आ गया।

रुपया मंगलवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 76.83 पर बंद हुआ था।

शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध विक्रेता थे और उन्होंने मंगलवार को 2,095.23 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।