फिर बढ़े पेट्रोल, डीजल के दाम, मायावती ने सरकार से की प्रभावी कदम उठाने की मांग


पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बृहस्पतिवार को एक बार फिर 35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई।


शिवांगी गुप्ता शिवांगी गुप्ता
देश Updated On :

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बृहस्पतिवार को एक बार फिर 35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई, जिससे देश भर के पंपों पर इनकी खुदरा कीमतें अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं।

जिस बढ़ती मंहगाई को रोकने के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों से जनता को बढ़ती मंहगाई से राहत देने के लिए तुरंत सख्त एवं प्रभावी कदम उठाने की मांग की है।

मायावती ने ट्वीट किया, ‘‘देश में एक तरफ पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस आदि की बढ़ती कीमतों तथा दूसरी तरफ, रोजमर्रा की वस्तुओं के बढ़ते दाम से जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। बसपा की मांग है कि केंद्र सरकार एवं सभी राज्य सरकारें जनता को राहत देने के लिए तुरंत सख्त एवं प्रभावी कदम उठाएं।’’

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक दिल्ली में पेट्रोल की कीमत अपने उच्चतम स्तर 104.79 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 110.75 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गई।

इसी तरह मुंबई में डीजल अब 101.40 रुपये प्रति लीटर और दिल्ली में 93.52 रुपये प्रति लीटर के भाव पर मिल रहा है। पिछले दो सप्ताह में यह 13वीं बार है, जब पेट्रोल के दाम बढ़े हैं, जबकि डीजल तीन हफ्तों में 16 बार महंगा हो चुका है, हालांकि 12 और 13 अक्टूबर को दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ था।

देश के ज्यादातर हिस्सों में पेट्रोल की कीमत पहले ही 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर है, जबकि मध्य प्रदेश, राजस्थान, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, केरल और कर्नाटक सहित कई राज्यों में डीजल भी 100 रुपये प्रति लीटर के स्तर को पार कर गया है।

स्थानीय करों और मालभाड़े के आधार पर पेट्रोल-डीजल की कीमतें विभिन्न राज्यों में अलग-अलग होती हैं। इसबीच अंतरराष्ट्रीय मानक ब्रेंट क्रूड सात साल में पहली बार 84 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच गया है।



Related