मुसलमानों और एआईएमआईएम का कोई संबंध नहीं : किशन रेड्डी


रेड्डी ने समग्र विकास के लिए ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में भाजपा के लिए वोट मांगते हुए एआईएमआईएम पर आरोप लगाया कि उसका गरीब किसानों को ‘‘परेशान’’ करने और माफिया का इस्तेमाल करके उनकी पूंजी ‘‘हथियाने’’ का इतिहास रहा है।


भाषा भाषा
देश Updated On :

हैदराबाद। केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने एआईएमआईएम पर निशाना साधते हुए रविवार को आरोप लगाया कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी को ‘‘परिवार चलाता’’ है और उसका मुसलमानों से कोई संबंध नहीं है।

रेड्डी ने समग्र विकास के लिए ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव में भाजपा के लिए वोट मांगते हुए एआईएमआईएम पर आरोप लगाया कि उसका गरीब किसानों को ‘‘परेशान’’ करने और माफिया का इस्तेमाल करके उनकी पूंजी ‘‘हथियाने’’ का इतिहास रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक मजलिस पार्टी (एआईएमआईएम) की बात है, तो भाजपा (अपने रुख को लेकर) बहुत स्पष्ट है। मजलिस पार्टी और मुसलमानों का कोई संबंध नहीं है। मुस्लिम भाई अलग हैं और मजलिस पार्टी अलग है।’’

रेड्डी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मजलिस पार्टी हैदराबाद में हजारों मुसलमानों को परेशान करती है। उसने माफिया गिरोहों का इस्तेमाल करके हजारों मुसलमानों की सम्पत्तियों पर कब्जा किया।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा एआईएमआईएम को एक ऐसे राजनीतिक दल के रूप में देखती है, जिसे निजाम के शासन के दौरान कासिम रिजवी की रजाकार-निजी मिलिशिया की विचारधारा विरासत में मिली है और जिसने वित्तीय एवं कानूनी मदद देकर आतंकवादी गतिविधियों को समर्थन दिया।

उन्होंने कहा कि यदि भाजपा को जीएचएमसी चुनाव में चुना जाता है, तो शहर के सभी क्षेत्रों में समग्र विकास होगा।

उन्होंने गरीब तबके के लिए ‘दो शयनकक्ष वाले मकानों’ जैसे चुनावी वादों को पूरा करने में ‘‘नाकाम’’ रहने पर टीआरसी की निंदा की और लोगों से कहा कि वे सत्तारूढ़ पार्टी के उम्मीदवारों से उन्हें उनके मकान दिखाने को कहें।

जीएचएमसी चुनाव के लिए मतदान एक दिसंबर को होगा और मतगणना चार दिसंबर को होगी।



Related