एमपी में 50 से अधि‍क जवानों को किया गया क्‍वॉरेंटाइन, विदेशों से लौटे थे कई अधिकारी


मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की
संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। रविवार को यह संख्‍या 34 से बढ़कर 39 हो गई है। नए पांचों मरीज इंदौर से हैं।
अकेले यहां मरीजों की संख्‍या 24 पहुंच चुकी है।


भास्कर ऑनलाइन भास्कर ऑनलाइन
देश Updated On :

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। रविवार को यह संख्‍या 34 से बढ़कर 39 हो गई है। नए पांचों मरीज इंदौर से हैं। अकेले यहां मरीजों की संख्‍या 24 पहुंच चुकी है। ग्‍वालियर डबरा स्थित टेकनपुर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ट्रेनिंग एकेडमी में एक सैन्‍य अधिकारी को शनिवार कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसके संपर्क में आए सैनिकों एवं आम लोगों का पता लगाकर उन्‍हें क्‍वॉरेंटाइन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है । 
अधिकारी हाल ही में दूसरे स्थान से ट्रांसफर होकर यहां आए हैं। फिलहाल संक्रमित सैन्‍य अधिकारी को एकेडमी के अंदर ही आइसोलेशन वार्ड में क्‍वॉरेंटाइन कर रखा गया है। इस बीच अधिकारी के बारे में पता चला है कि लेफ्ट‍िनेंट की पत्‍नी और बच्‍चे हाल ही में जर्मनी से लौटे हैं। अकादमी अस्‍पताल में इन लेफ्ट‍िनेंट के साथ उनके पत्नी और बच्‍चे को भी क्‍वॉरेंटाइन किया गया है। इस संबंध में अधिकारिक जानकारी के अनुसार यह सैन्‍य अधिकारी लेफ्टिनेंट कमांडेंट पद पर है । यहां कोविड-19 संक्रमण का  मामला सामने आने के बाद शनिवार से ही ग्‍वालियर के बीएसएफ कैंपस में दहशत का माहौल बना हुआ है। इसके चलते उच्‍च सैन्‍य अधिकारियों ने एक बैठक कर निर्णय लिया कि संक्रमित अधिकारी के संपर्क में आने वाले अन्‍य लोगों का भी कोरोना टेस्ट किया जाएगा। फिलहाल स्‍वास्‍थ्‍य सुरक्षा को देखते हुए अब तक बीएसएफ अकादमी ऑफिसर एवं अन्‍य सैनिकों सहित 50 से अधि‍क लोगों को चिकित्‍सिय देखरेख में क्‍वॉरेंटाइन किया गया है।
बताया जा रहा है कि हाल ही में यहां  अतिरिक्त महानिदेशक, महानिरीक्षक, बीएसएफ अकादमी के दोनों निदेशकों की मौजूदगी में हुई अधिकारियों की उच्‍चस्‍तरीय एक महत्‍वपूर्ण  बैठक में ये लेफ्ट‍िनेंट कमांडेंट भी उपस्थित थे। इसके चलते अब सभी को कहा गया है कि स्‍वयं को कोरोना संक्रमण के आनेवाले लक्षणों तक की एक निश्‍चित अवधि के लिए क्‍वॉरेंटाइन करें। स्‍वास्‍थ्‍य लाभ लें और निरंतर डॉक्‍टर का परामर्श लेते रहें।
इसके अतिरिक्‍त यहां सभी के लिए यह निर्देश जारी कर दिया गया है कि जो भी जवान या अधिकारी अथवा आम लोगों में जिनका भी संपर्क इन संक्रमित अधिकारी के साथ आया है, वह आगे आएं और स्‍वयं का कोरोना टेस्‍ट कराएं। साथ ही संक्रमित हो चुके अधिकारी से भी पूछकर पता लगाया गया है कि इस बीच उसकी ट्रवेल हिस्‍ट्री क्‍या रही, वह कहां-कहां गया और किन लोगों से मिला है।



Related