नक्सलियों के कब्जे से छूटा जवान, शाह ने कोबरा कमांडो से की चर्चा


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को उस ‘कोबरा’ कमांडो से बात की जिसे छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने छह दिन तक कब्जे में रखने के बाद मुक्त कर दिया।


भाषा भाषा
देश Updated On :

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को उस ‘कोबरा’ कमांडो से बात की जिसे छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने छह दिन तक कब्जे में रखने के बाद मुक्त कर दिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि टेलीफोन पर हुई बातचीत में शाह ने कांस्टेबल राकेश्वर सिंह मिन्हास का कुशलक्षेम जाना। छत्तीसगढ़ के बीजापुर में तीन अप्रैल को नक्सिलयों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया था जिसमें 22 सुरक्षा कर्मी शहीद हो गए थे।

इसके बाद नक्सलियों ने 210वीं बटालियन के कोबरा कमांडो मिन्हास को अगवा कर लिया था।

जवान को सुरक्षित रूप से मुक्त कराने के लिए राज्य सरकार द्वारा जनजातीय समुदाय के एक सदस्य समेत कुछ गणमान्य व्यक्तियों का एक दल गठित किया गया था। इसके बाद माओवादियों ने मिन्हास को मुक्त कर दिया।



Related