दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले 31,000 के पार


दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार को जारी ताजा बुलेटिन के अनुसार अब भी 18,543 लोगों का इलाज चल रहा है, जबकि 11,861 मरीज या तो स्वस्थ हो गए या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई या वे कहीं और चले गए हैं। मंगलवार को कोई स्वास्थ्य बुलेटिन जारी नहीं किया गया था।


भाषा भाषा
देश Updated On :

नई दिल्ली। दिल्ली में मंगलवार को कोविड-19 के 1,366 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 31,000 के पार चली गई है जबकि अब तक 905 लोग इस बीमारी से जान गंवा चुके हैं।

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार को जारी ताजा बुलेटिन के अनुसार अब भी 18,543 लोगों का इलाज चल रहा है, जबकि 11,861 मरीज या तो स्वस्थ हो गए या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई या वे कहीं और चले गए हैं। मंगलवार को कोई स्वास्थ्य बुलेटिन जारी नहीं किया गया था।

स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा गया है कि दिल्ली में 1,366 नए मामले सामने आने के बाद कोविड-19 के मामले बढ़कर 31,309 हो गए हैं। इसमें कहा गया है कि आठ जून को कुल 34 लोगों की मौत की जानकारी दी गई। इन लोगों की मौत 28 मई से सात जून के बीच हुई।

मौतों की संख्या की जांच करने वाली समिति की विभिन्न अस्पतालों से मिली जानकारी पर आधारित एक रिपोर्ट के अनुसार मृतकों में उन लोगों को शामिल किया गया है जिनमें मौत का प्रमुख कारण कोविड-19 पाया गया। कोविड-19 के मौत के मामले ‘कम करके’ बताने को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रही दिल्ली सरकार ने हाल ही में कोरोना वायरस के कारण हुई मौतों पर शहर में अस्पतालों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की।

उसने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार तक कुल 2,61,079 लोगों की कोविड-19 के लिए जांच की गई। विभाग ने बताया कि घर में पृथक-वास कर रहे कोविड-19 के मरीजों की संख्या 14,556 है। संक्रमण के 320 मरीज वेंटीलेटर्स पर या आईसीयू में हैं। निषेध क्षेत्रों की संख्या 188 है। 

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शहर में कोविड-19 के हालात की समीक्षा करने के लिए मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों, डीजीएचएस, सीडीएमओ और कोविड-19 के लिए चिह्नित दिल्ली सरकार के अस्पतालों के चिकित्सा निदेशकों के साथ बैठक की थी। दिल्ली सरकार ने मंगलवार को 22 निजी अस्तपालों को कोरोना वायरस के मरीजों के लिए और बेड आरक्षित करने के निर्देश दिए। एक आधिकारिक आदेश में उसने 22 निजी अस्पतालों को कोरोना वायरस के मरीजों के लिए 2,015 अतिरिक्त बेड आवंटित करने के निर्देश दिए।

दिल्ली सरकार के अस्पतालों और निजी केंद्रों को मंगलवार को अपने मुख्य प्रवेश द्वारों पर फ्लेक्स बोर्ड पर बेड्स की उपलब्धता के बारे में जानकारी देने के भी निर्देश दिए गए।

यह कदम तब उठाया गया है जब कई परिवारों ने आरोप लगाया उनके परिवार के कोविड-19 से संक्रमित या संदिग्ध सदस्यों को बेड उपलब्ध होने के बावजूद विभिन्न अस्पतालों ने भर्ती करने से इनकार कर दिया। सोमवार को कोरोना वायरस के 1007 नए मामले आने के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 29,943 जबकि मृतकों की संख्या 874 पर पहुंच गई थी।


Related