दीदी की जीत के बाद बंगाल में खूनी खेला, सोशल मीडिया पर चला #ShameOnTMC ट्रेंड


पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव में ममता बनर्जी के शानदार खेला के बाद वहां अब खूनी खेला शुरू हो गया है। ममता की पार्टी टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर हिंसा और बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के आरोप लगे हैं, वहीं इस पूरे मामले में अभी तक ममता बनर्जी की चुप्पी पर भी विपक्षी पार्टी भाजपा ने सवाल उठाया है।


Ritesh Mishra Ritesh Mishra
देश Updated On :

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव में ममता बनर्जी के शानदार खेला के बाद वहां अब खूनी खेला शुरू हो गया है। ममता की पार्टी टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर हिंसा और बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के आरोप लगे हैं, वहीं इस पूरे मामले में अभी तक ममता बनर्जी की चुप्पी पर भी विपक्षी पार्टी भाजपा ने सवाल उठाया है। पश्चिम बंगाल में अब तक चार भाजपा कार्यकर्ताओं के हत्या किए जाने की खबरें आ चुकी हैं, जबकि बताया जाता है कि करीब 20 भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है।

पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी और उनके द्वारा की गई हिंसा के खिलाफ सोशल मीडिया पर भी अभियान चलाया जा रहा है। हिंसा और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या को लेकर लोग सीधे तौर पर टीएमसी को जिम्मेदार मान रहे हैं। सोशल मीडिया ट्वीटर पर बंगाल हिंसा के खिलाफ #ShameOnTMC ट्रेंड कर रहा है।

हालांकि, तृणमूल के सूत्रों ने इन आरोपों से इनकार किया है। स्थानीय बीजेपी नेता ने कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी की हार का बदला लेने के लिए आगजनी की और हमारे पार्टी कार्यालय को आग के हवाले कर दिया। खबरों के मुताबिक, पूर्व मेदिनीपुर में TMC के लोगों ने बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी के वाहन के पास प्रदर्शन किया। अधिकारी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कांटे की टक्कर में बहुचर्चित नंदीग्राम सीट से हरा दिया था।

‘याद रखें तृणमूल सांसदों, मुख्यमंत्री को भी दिल्ली आना है’ : सांसद परवेश
भाजपा सांसद परवेश साहिब सिंह ने सोमवार को आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की जीत के बाद पार्टी के “गुंडों” ने भाजपा कार्यकर्ताओं की पिटाई की है और प्रतिद्वंद्वी पार्टी-तृणमूल कांग्रेस- को ‘चेतावनी’ दी कि उसके सांसदों, मुख्यमंत्री और विधायकों को भी दिल्ली आना है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को निशाना बनाते हुए पश्चिमी दिल्ली से भाजपा सांसद ने ट्वीट किया, ‘‘टीएमसी के गुंडों ने चुनाव जीतते ही हमारे कार्यकर्ताओं को जान से मारा, भाजपा कार्यकर्ताओं की गाड़ियाँ तोड़ीं, घर में आग लगा रहें हैं। याद रखना टीएमसी के सांसद , मुख्यमंत्री , विधायकों को दिल्ली में भी आना होगा, इसको चेतावनी समझ लेना। चुनाव में हार जीत होती है, मर्डर नहीं।’’

सोशल मीडिया पर घटना को लेकर कई वीडियो भी शेयर किए जा रहे हैं। वहीं भाजपा के सांसद ने चेतावनी दी है कि टीएमसी को ये ध्यान देना चाहिए कि ममता बनर्जी को भी दिल्ली आना होता है। सोशल मीडिया पर टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा की गई हिंसा को लेकर लोगों ने कई वीडियो शेयर किए हैं। अब हजारों की संख्या में लोगों ने ऐसे वीडियो को शेयर करते हुए ट्वीट किया है।



Related