बोइंग 737 मैक्स विमानों को एफएए से फिर उड़ानों की अनुमति से स्पाइसजेट का शेयर 12 प्रतिशत चढ़ा


भारत में सिर्फ दो एयरलाइन स्पाइसजेट और जेट एयरवेज (अब बंद हो चुकी) मैक्स विमानों का इस्तेमाल कर रही थीं। बाद में सुरक्षा चिंताओं की वह से इन विमानों को खड़ा कर दिया गया था।


भाषा भाषा
अर्थव्यवस्था Updated On :

नई दिल्ली। अमेरिका के संघीय विमानन प्रशासन (एफएए) द्वारा बोइंग 737 मैक्स विमानों को फिर से वाणिज्यिक परिचालन की अनुमति से बृहस्पतिवार को स्पाइसजेट का शेयर 12 प्रतिशत चढ़ गया।

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने बुधवार को कहा था कि एफएए के फैसले की समीक्षा में कुछ समय लगेगा। उसके बाद वह भारत में बोइंग 737 मैक्स विमानों के परिचालन के बारे में अंतिम फैसला लेगा।

बीएसई में स्पाइसजेट का शेयर 12.06 प्रतिशत बढ़कर 73.35 रुपये पर पहुंच गया। कारोबार के दौरान एक समय यह 15.74 प्रतिशत के लाभ से 76.8 रुपये तक गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में भी कंपनी का शेयर 11.7 प्रतिशत की बढ़त के साथ 74 रुपये पर पहुंच गया।

भारत में सिर्फ दो एयरलाइन स्पाइसजेट और जेट एयरवेज (अब बंद हो चुकी) मैक्स विमानों का इस्तेमाल कर रही थीं। बाद में सुरक्षा चिंताओं की वह से इन विमानों को खड़ा कर दिया गया था।

स्पाइसजेट के बेड़े में 13 ऐसे विमान हैं। मार्च, 2019 से इन विमानों का परिचालन बंद है।



Related