भारतीय राजदूत ने विस्कॉन्सिन के गवर्नर के साथ व्यापार, निवेश पर चर्चा की


भारतीय दूतावास ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि एवर्स के साथ वर्चुअल बैठक में संधू ने कृषि, बुनियादी ढांचा और विनिर्माण क्षेत्र में अवसरों के दोहन के लिए रणनीतियों पर चर्चा की। बैठक में यह बात उभरकर आई कि इन क्षेत्रों के दोहन से भारत और विस्कॉन्सिन को साझा लाभ होगा।


भाषा भाषा
अर्थव्यवस्था Updated On :

वाशिंगटन। अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने विस्कॉन्सिन के गवर्नर टोनी एवर्स के साथ बैठक में भारत में निवेश अवसरों की जानकारी दी। उन्होंने गवर्नर के साथ व्यापार और लोगों-से-लोगों के संपर्क पर विचार-विमर्श किया और बताया कि भारत में निवेश कैसे दोनों पक्षों के लिए ही लाभ की स्थिति है।

भारतीय दूतावास ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि एवर्स के साथ वर्चुअल बैठक में संधू ने कृषि, बुनियादी ढांचा और विनिर्माण क्षेत्र में अवसरों के दोहन के लिए रणनीतियों पर चर्चा की। बैठक में यह बात उभरकर आई कि इन क्षेत्रों के दोहन से भारत और विस्कॉन्सिन को साझा लाभ होगा।

बैठक के दौरान भारतीय राजूदत ने गवर्नर को भारत द्वारा स्वास्थ्य सेवा और शिक्षा क्षेत्र में उठाए गए कदमों का ब्योरा दिया और इन क्षेत्रों में गठजोड़ पर चर्चा की। 

भारत और विस्कॉन्सिन में मजबूत व्यापारिक और निवेश संबंध हैं। भारत और विस्कॉन्सिन का आपसी व्यापार एक अरब डॉलर से अधिक है।

भारत की सूचना प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग सेवाएं, चिकित्सा उपकरण और विनिर्माण क्षेत्र की कई कंपनियों ने विस्कॉन्सिन में निवेश किया है। बयान में कहा गया है कि इन कंपनियों ने विस्कॉन्सिन में करीब 18.5 करोड़ डॉलर का निवेश किया और 2,460 रोजगार के अवसरों का सृजन किया है।