अडाणी टोटल गैस, टोरेंट गैस दोनों ने आईजीएक्स की पांच-पांच प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी


आईईएक्स ने एक बयान में कहा कि दो अग्रणी गैस कंपनियों के साथ आईजीएक्स की साझेदारी भारत के गैस बाजार के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी।


भाषा भाषा
अर्थव्यवस्था Updated On :

नई दिल्ली। अडाणी टोटल गैस और टोरेंट गैस दोनों भारतीय गैस एक्सचेंज (आईजीएक्स) के पहले रणनीति निवेशक बन गये हैं। दोनों ने आईजीएक्स में पांच-पांच प्रतिशत हिस्सेदारी की खरीद की है। भारतीय ऊर्जा एक्सचेंज (आईईएक्स) ने इसकी जानकारी दी।

आईजीएक्स देश का पहला प्राधिकृत गैस एक्सचेंज है और आईईएक्स का हिस्सा है।

आईईएक्स ने एक बयान में कहा कि दो अग्रणी गैस कंपनियों के साथ आईजीएक्स की साझेदारी भारत के गैस बाजार के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी।

आईईएक्स ने शुक्रवार को आईजीएक्स की हिस्सेदारी के पहले रणनीतिक विनिवेश की घोषणा की।

आईजीएक्स के निदेशक राजेश के मेदिरत्ता ने बयान में कहा, ‘‘आईजीएक्स भारत के गैस बाजार के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिये प्रयासरत है। यह ऊर्जा मिश्रण में गैस की हिस्सेदारी छह प्रतिशत से बढ़ाकर 2030 तक 15 प्रतिशत करने के सरकार के दृष्टिकोण के अनुकूल है।’’

अडाणी टोटल गैस लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सुरेश पी मंगलानी ने बयान में कहा, ‘‘भारत के ऊर्जा मिश्रण में प्राकृतिक गैस की हिस्सेदारी बढ़ाने के लिये अडाणी टोटल गैस बुनियादी संरचना बनाने को प्रतिबद्ध है।’’



Related